ग्रेटा थनबर्ग कौन है? कहां की है? Greta Thunberg Biography in Hindi

  • by Rohit
Advertisements

Greta Thunberg Biography in Hindi: दोस्तों स्वागत है आपका हमारे Blog हिंदी पीसीदुनिया में, आज हम जानेंगे विश्व प्रसिद्ध ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) के बारे में, वह एक विश्व प्रसिद्ध महिला है, जो पर्यावरण बचाने तथा जलवायु परिवर्तन को लेकर दुनियाभर में जागरूकता फैला रही है। ग्रेटा थनबर्ग ने इन सब को लेकर डोनाल्ड ट्रंप से मिलने तक मना कर दिया था।

ग्रेटा थनबर्ग कौन है? ग्रेटा टिनटिन एलोनोरा एर्मान थनबर्ग एक स्वीडिश पर्यावरण कार्यकर्ता हैं, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जलवायु परिवर्तन के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने के लिए विश्व के नेताओं को चुनौती देने के लिए जानी जाती हैं।

Advertisements

Greta Thunberg Biography in Hindi

Greta Thunberg Age: ग्रेटा थनबर्ग का जन्म 3 जनवरी 2003 को स्वीडन में हुआ था और 2021 के हिसाब से ग्रेटा Thunberg की उम्र 18 वर्ष की है। और यह स्कॉट होम स्वीडन की रहने वाली है। जब यह 8 साल की थी यह अपने स्कूल में पर्यावरण संबंधी प्रोजेक्ट बनाती, उसी से उन्हें पर्यावरण बचाने की प्रेरणा भी मिली। 2014 में ग्रेटा (Greta) उदास रहने लगी उसने खाना और बात करना कम कर दिया diagnosis करने पर एस्पर्जर सिंड्रोम नामक बीमारी का पता चला, इस बीमारी से सामाजिक व्यवहार में कमी आती लेकिन ग्रेटा इस सिंड्रोम को बीमारी के रूप में नहीं देखती है, वह इस बीमारी को महाशक्ति के रूप में देखती है।

Award
Rachel Carson prize 2019
Glamour award for the revolutionary 2019
Right livelihood award 2019
Ambassador of conscience award 2019
Shorty award for best in activism 2020
Greta Thunberg Awards

माता-पिता को चुनौती

ग्रेटा थनबर्ग ने पर्यावरण से लगाव के कारण अपने माता पिता को लगभग 2 वर्षो के लिए चुनौती दे डाली, कि वह अपनी हवाई यात्रा को छोड़ें और साथी नॉन वेज खाना भी छोड़ दे, जिससे एक कार्बन फुटप्रिंट कम हो, अपनी बेटी की चिंता को देखकर इनकी मां ने अपना ओपेरा सिंगिंग का कैरियर छोड़ दिया और इस मिशन में अपनी बेटी का पूरा साथ दिया।

Advertisements

20 अगस्त 2018 में जब ग्रेटा थनबर्ग नवी कक्षा में थी, इन्हे पर्यावरण बचाने में भी रुचि थी, तब इन्होंने सितंबर 2018 में होने वाले स्वीडिश जनरल सिलेक्शन तक स्कूल ना जाने का फैसला किया, और इन्होंने स्वीडन की संसद के बाहर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया, इनकी मुख्य मांगी थी कि स्वीडन सरकार पेरिस जलवायु समझौते के अनुसार कार्बन उत्सर्जन कम करें, और स्वीडन के आम चुनावों के बाद ग्रेटा थनबर्ग ने केवल शुक्रवार को अपने हड़ताल जारी रखी बाकी दिन वह स्कूल जाया करती थी और सिर्फ शुक्रवार को छुट्टी लिया करती थी, विरोध प्रदर्शन के लिए। उन्होंने दुनिया भर के स्कूली छात्रों को जलवायु संबंधी मामलों के लिए प्रेरित किया।

दिसंबर 2018 तक Sweden के 270 शहरों के 20,000 से ज्यादा युवाओं ने उनका साथ दिया, जिससे वह अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त Climate Activist बन गई्। वह हर शुक्रवार स्कूल से छुट्टी लेकर स्टॉकहोम में हड़ताल शुरु करती है, उनका कहना है कि अगर भविष्य नहीं रहेगा तो दुनिया ही नहीं बचेगी तो स्कूल जाने का कोई मतलब नहीं रहेगा।

Advertisements

ग्रेटा थनबर्ग ने मई 2019 में अपनी क्लाइमेट एक्शन speeches का एक संग्रह जो “No One is too small to make a difference” के नाम से प्रकाशित किया।

फैमिली
ग्रेटा थनबर्ग की माता का नाम Malèna Ernman है और वह एक ओपेरा सिंगर है।
ग्रेटा थनबर्ग के पिता का नाम Svante Thunberg है
ग्रेटर थनबर्ग के दादा का नाम olof Thunberg है।

Advertisements

ग्रेटा थनबर्ग UN speech में कहीं गई कुछ लाइनें।

मुझे इस वक्त यहां नहीं बल्कि स्कूल में होना चाहिए आपने हमारे सपने और बचपन को छीना है आपकी हिम्मत कैसे हुई लोग मर रहे हैं पूरा एको सिस्टम खत्म हो रहा है आप केवल पैसे और आर्थिक ग्रोथ की बात कर रहे हैं। ग्रेटा थनबर्ग ने इतनी छोटी सी उम्र में ही इतनी बड़ी बड़ी चीज है कह दी कि सारी दुनिया हिल गई। उनकी उम्र उस वक्त 16 वर्ष की थी।

Full NameGreta Tintin Eleonora Erman Thunberg
OccupationStudent
Environmental Activist
D.O.B3 january 2003 (Stockholm, Sweden)
Active Years2018- present
Movement School strike for climate
Hobbiesreading books
riding bicycle
Eye colourBlue Hazel
Hair colourlight ash blonde
Food habitvegetarian
Favourite foodsalad, noodles

Social Media

Advertisements
Instagram 10.6M Followershttps://www.instagram.com/gretathunberg/
Twitter 4.9M Followershttps://twitter.com/GretaThunberg
Social Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *