New WhatsApp Privacy Policy in Hindi | WhatsApp vs Signal 2021 Comparison

  • by Rohit
whatsapp new privacy policy in hindi
Advertisements

WhatsApp New Privacy Policy in Hindi: 8 फरवरी 2021 व्हाट्सएप (WhatsApp) ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट कर दिया है (WhatsApp New Privacy Policy Update), पूरी दुनिया व्हाट्सएप से भाग रही है, क्या आपको पता है इस पॉलिसी को accept करें या ना करें, तब भी 2016 से आपके व्हाट्सएप का डाटा फेसबुक में इस्तेमाल किया जा रहा था। क्योंकि अगर आप फेसबुक चलाते हैं उस में चैटिंग करते हैं, फेसबुक में पोस्ट कर रहे हैं, लाइक, और कमेंट कर रहे हैं, photos और videos अपलोड कर रहे हैं, कुछ भी encrypted नहीं है इस वजह से वहां पर आपका सारा डाटा शेयर हो रहा है, अगर आप फेसबुक चलाते हैं तब तो आप को डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आपका सारा डाटा पहले से ही शेयर हो चुका है। क्योंकि फेसबुक एक क्लिक करके आपका नाम पता मोबाइल नंबर चैटिंग फोटो, सब details clear text में जान लेता है। सरल शब्दों में कहे तो आपकी सारी photos और बाकि सब डाटा फेसबुक के पास अवेलेबल रहता है।

WhatsApp new Privacy Policy in Hindi

वही व्हाट्सएप की बात करें तो व्हाट्सएप एक मैसेजिंग एप थी जो बहुत पहले 2009 से चल रही थी बाद में 2014 में फेसबुक ने व्हाट्सएप को खरीद लिया था, 19 बिलीयन डॉलर में , और तब से व्हाट्सएप फेसबुक का एक हिस्सा है। क्योंकि कोई कंपनी 19 बिलियन डॉलर देकर खरीदेगी तो यही चाहेगी उससे डबल पैसा कमाऊ। वह पैसे कैसे कमाएंगे?

Advertisements

सर्विस तो फ्री है, तो आप ही उसके प्रोडक्ट है आपकी वजह से आपको ऐड दिखा दिखाकर वह लोग पैसे कमाएंगे आप ads तभी देख पाओगे ना जब सिस्टम को चीजें पता हो कि आपको कौन सी चीज पसंद है पसंद नापसंद निकालने के लिए फेसबुक आपका डाटा लेता है, आप जो भी सर्च करो जो भी चीजें करो फेसबुक में आपको उसी के ads दिखते हैं।

WhatsApp मैं ऐसा अभी कुछ भी नहीं था, लेकिन आपका जो डाटा है वह फेसबुक के पास पहले से ही है और यह जो प्राइवेसी पॉलिसी है इससे आपके लेवल पर कुछ भी चेंज नहीं होने वाला, यानी कि अगर मैं व्हाट्सएप यूज कर रहा हूं और आपको पर्सनल मैसेज भेज रहा हूं तो हम दोनों की जो बात हो रही है एंड टू एंड इनइंक्रिप्टेड (end-to-end-encrypted) होगी, उसे उन दो व्यक्तियों के अलावा कोई दूसरा नहीं पढ़ सकता है, क्योंकि वह एंड टू एंड इंक्रिप्टेड है, और server में स्टोर होगी लेकिन encrypted फॉर्म में जिसे कोई नहीं पढ़ सकता है और अगर पढ़ना भी जाए तो वह उस encrypted form में stored है, जिससे कि कोई उस encrypted coding को कोई पढ़ नहीं सकता है।

Advertisements

तो व्हाट्सएप आज भी end-to-end-encrypted है। यानी कि आप व्हाट्सएप में मैसेजेस कर रहे हो तो उसको कोई नहीं पढ़ सकता है, लेकिन उसके अलावा बहुत सारी चीजें हैं जो कि फेसबुक के साथ शेयर हो रही है और होगी भी, क्योंकि कोई भी अपना बिजनेस बढ़ाना चाहेगा उससे पैसा कमाना ही चाहेगा और पैसे कमाने के लिए आपका डाटा ही जो है वह पूरा पैसा है उनके लिए, आपका क्या क्या डाटा व्हाट्सप्प ले रहा है निचे दी गयी image में आप देख सकते है।
व्हाट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी और लिंक => WhatsApp new Privacy Policy update

Advertisements

WhatsApp vs Signal 2021 Privacy Comparison

WhatsApp vs Signal Privacy Comparison

Signal vs WhatsApp 2021 Comparison

अगर आप व्हाट्सएप यूज नहीं करना चाहते तो उसकी जगह आप Signal app इस्तेमाल कर सकते हैं। सिगनल एप एक अच्छी ऐप निकल के सामने आई है, Signal सिर्फ आपका Contact नंबर स्टोर करते हैं, अपने डेटाबेस में ताकि उससे आपका ओटीपी वेरीफाई हो सके। उसके अलावा कुछ और आप से नहीं लिया जा रहा है, आपका डाटा उनके सर्वर पर स्टोर होगा जैसे चैट्स वीडियोस पिक्चर कुछ भी लेकिन वह लिंक नहीं होगी।

Advertisements

जबकि व्हाट्सएप में जो इमेज का फोल्डर है, जो फाइल है यह आपके नाम की है व्हाट्सएप वह फाइलों का पूरा ग्राफ बना कर रखता है कल को कुछ भी निकालना हो तो आपकी प्रोफाइल पिक्चर व्हाट्सएप निकाल सकता है आपके सारे ग्रुप से निकाल सकता है। ग्रुप किस किस में आप एडमिन हो क्या आपने प्रोफाइल पिक्चर लगाई आपकी रियल टाइम खुद की लोकेशन क्या है यह सब व्हाट्सएप देख सकता है।

जबकि सिगनल ऐप में मोबाइल नंबर उनके सर्वर पर स्टोर है लिंक नही होगा, जिससे कि आपका कोई भी डाटा सिगनल एप्स यूज नहीं करेगा जैसे कि व्हाट्सएप करता है, वहां सब कुछ इंक्रिप्टेड रहता है, कोई आपकी इमेजेस वीडियोस मैसेजेस खोलकर देखना भी जाएगा तो वह देख नहीं सकता है। क्योंकि वहां कुछ linked ही नहीं है, अर्थात मोबाइल नंबर के साथ कुछ भी linked नहीं है। तो सिग्नल ऐप्स आज की डेट में व्हाट्सएप से ज्यादा सेफ ऐप है।

व्हाट्सएप में अभी भी चैट के नजरिए से देखा जाए तो सिर्फ अगर आपको चैट करनी है तब व्हाट्सएप आप चला सकते हैं निश्चिंत होकर। लेकिन इसके अलावा फेसबुक के साथ आपका सारा डाटा शेयर होता है। व्हाट्सएप में आपका प्रोफाइल, IP address, फोन नंबर, Location सब चीजें शेयर होती है। सिगनल ऐप में सारी चीजें इंक्रिप्टेड है, उसमें आपका कोई भी डाटा किसी के साथ भी शेयर नहीं होता है, तो WhatsApp vs Signal comparison में देखा जाए तो सिगनल एप व्हाट्सएप से ज्यादा सही निकल कर सामने आती है, जिसे आप आज के डेट में निश्चिंत होकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

अंत में अब आपको यही बताना चाहेंगे चाहे कोई भी कंपनी हो वह सब आपका डाटा स्टोर करके रखते हैं फेसबुक व्हाट्सएप गूगल यूट्यूब हर किसी के पास आपका डाटा सुरक्षित रहता है जिससे वह जब चाहे और कहीं भी आदान-प्रदान कर सकते हैं व्हाट्सएप में आपकी चैटिंग अभी भी सेफ है तो उसे आप यूज कर सकते हैं।
Signal App Download Link:- https://play.google.com/store/apps/details?id=org.thoughtcrime.securesms

आशा करते है आपको WhatsApp new Privacy Policy in Hindi और WhatsApp vs Signal Privacy Policy के विषय में सम्पूर्ण जानकारी मिल गयी होगी धन्यवाद!

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *